Apocalypse Now | A Poetic War Movie

Apocalypse Now 1979 की फिल्म है जिसे डायरेक्ट किया है The Godfather के डायरेक्टर Francis Ford Coppola ने। फिल्म Marlon Brando, Martin Sheen, Robert Duvall की acting और अपनी कहानी, cinematography, sound, art direction, editing के लिए Oscars में nominate हुई थी। 

Apocalypse Now | A Poetic War Movie

मैं अपने आप को बहुत बड़ा सिनेमा प्रेमी समझता था कि मैंने दुनिया जहाँ की लगभग सारी best movies देख रखी हैं, उनको समझा है या समझने की कोशिश की है। लेकिन ये gem कहीं छुप गया था, जो मेरी नजरों के सामने ही नहीं आ रहा था। मैंने था इस फिल्म के बारे में, one of the greatest movies है, ये वो, सारी बातें सुन चुका था। लगता था कि हाँ, होगी कोई मूवी जिसमें larger than life war scenes होंगे, army होगी, एक mission hoga, जैसे कि बाकी सारी war films में होता है।

जब फिल्म देखने जा रहा था तब हो रही थीं आँखें बंद। रात के 11:30 बज रहे थे। लेकिन जैसे ही फिल्म के 10 मिनट पूरे हुए मेरी आँखें पूरी खुल गई और फिर खुली ही रह गईं।

तो मैं ऐसी बहकी-बहकी बातें क्यूँ कर रहा हूँ? तो बताता हूँ –

Poetic War Movie

Apocalypse Now | A Poetic War Movie

Apocalypse Now based है Vietnam War के era में। Psychologically bahut strong होने के बाद भी ये war movie ना होकर एक कहानी बन जाति है जो basic human emotions को दिखाती है। जैसे Martin Sheen का character है वो war से इतना obsessed है कि फिल्म के opening scene में अकेला, किसी assignment का इंतज़ार कर रहा है कि कहीं तो posting हो जाए। वहीं एक contradictory scene है जब Martin Sheen का character Marlon Brando के character को मारने जाता है तो एक तरफ दो tribal पक्षों में लड़ाई चल रही और दूसरी तरफ कुछ सैनिक बस ये चिल्ला रहे हैं कि – I want to go home.

Marlon Brando का character ये believe करता है कि वो सब कुछ control कर सकता है अगर Martin Sheen जैसे लोग उसे मिल जाएँ पर वो मरना भी चाहता है। Nihilism की philosophy follow करता है।

यही underlying human emotions और contradictory philosophy इस फिल्म को एक poetic war movie बना देते हैं।

Robert Duvall

Lieutenant Colonel William Bill Kilgore के character में Robert Duvall फिल्म में breathlessness लेकर आते हैं। एक ऐसा कर्नल जो अपने काम से बहुत प्यार करते हैं, अपने group से बहुत प्यार करते हैं, और war से प्यार करते हैं साथ में surfing से बहुत प्यार करते हैं।

एक scene है – पूरा chaos है, सब तरफ सिपाही भाग रहे हैं, पर Robert Duvall fearlessely खड़े हैं, जैसे कि वो उस moment को enjoy कर रहे हैं। आजू बाजू से गोलियां निकल रही हैं और फिर उनका dialogue-

“I love the smell of Napalm in the morning. It smells like… victory.”

ये dialogue Hollywood के Top 50 iconic dialogues में आता है। और देखने लायक है।

Cinematography & Location

फिल्म में fight sequence तो है लेकिन बहुत unique है – खासकर अपनी cinematography, location और art direction के लिए। Larger than life war scenes, mission, philosophy, human conflict, acting – सब देखने लायक है। देखने के बाद लगता है कि यार हाँ, कुछ तो देखा जो आज से पहले कभी नहीं देखा था।

finally यही कहूँगा कि इस film में सबके लिए कुछ ना कुछ है। अगर आप larger than life war scenes, well choreographed fight sequence और war का thrill देखना चाहते हैं तो ये सारे elements इस फिल्म में मौजूद हैं। Politics, human psyche during war, emotions और ग़ज़ब की acting देखना चाहते हैं तो फिर Apocalpyse Now देखें।

Also: Her | Irony of Loneliness

Don't miss out!
Subscribe To Newsletter

Receive top books recommendations, quotes, film recommendations and more of literature.

Invalid email address

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 Comments