Haruki Murakami - Norwegian Wood | Simplicity is Magical

सबसे पहले Haruki Murakami की किताब पढ़ी थी – Killing Commendatore और उसमे जो fantasy और जादुई elements थे, उन्हे पढ़ के मजा आ गया था। फिर पता चला था कि इनकी हर कहानी में कुछ ना कुछ fantasy और magical elements होते ही हैं। 

और फिर पढ़ी मैंने – Norwegian Wood. और इसमे जो जादू है वो literal नहीं है। 

बहुत ग़ज़ब कहानी है। प्रेम कहानी, Love Story या कह लो प्रेम कहानी के जरिए खुद को खोजने की कहानी है। Toru Watanabe 1960s के जापान में कैसे दो लड़कियों, एक अजीब दोस्त, American literature और culture के influence और खुद के conflicts के साथ deal करता है – उसकी कहानी है।

उसके best friend Kizuki की girlfriend Naoko के साथ उसका relationship क्यूकि Kizuki दो साल पहले suicide कर चुका है और Naoko अपनी personal life से deal कर रही है। फिर आती है Toru की ज़िंदगी में – Midori. जिंदादिल, हंसमुख और बहुत ग़ज़ब। कैसे वो दोनों की तरफ attract होता है लेकिन Naoko के लिए एक जिम्मेदारी फ़ील करता है। 

उधर उसके perceptions change होते हैं उसके eccentric दोस्त Nagasawa से जो genius है और एक अलग sense में अलग है। उसे किसी की परवाह नहीं। 

इन सबके बीच उसके thoughts को influence करता है American literature और culture. 

Norwegian Wood की सबसे अच्छी बात है कि कहानी ऐसी लगती है जैसे कोई दोस्त बैठकर सामने रात में अपनी कहानी सुना रहा है। कि यार पिछले दिनों ये ये हुआ मेरे साथ। और Watanabe और Midori के बीच की बातचीत बहुत ग़ज़ब है। प्यार हो जाता है उस chemistry से। 

तो इसमे magical क्या है – magical है Haruki Murakami का कहानी कहने का ढंग। बहुत simple सी कहानी है लेकिन जिस तरीके से लिखी गई है वो आपको Watanabe के संसार में जाने पर मजबूर कर देती है। मैं तो खो गया था उस world में और जब novel खत्म हुई तो लगा जैसे कोई दोस्त था जो अभी तक इतनी देर से कितनी ग़ज़ब कहानी सुना रहा था और अब वो जा रहा है। 

और अगर कोई writer ये फ़ील करवा कर चला जाए तो समझो काम हो गया। 

तो अगर कुछ अच्छा पढ़ना है – जिसमें थोड़ी life और relationship को लेकर philosophy भी है बहुत subtle सी तो ये पढ़ो। किताब के कुछ अपनी पसंद की lines दे रहा हूँ।

Norwegian Wood’s Quotes


With my eyes closed, I would touch a familiar book and draw its fragrance deep inside me. This was enough to make me happy.
If you only read the books that everyone else is reading, you can only think what everyone else is thinking. That's the world of hicks and slobs. Real people would be ashamed of themselves doing that.
When you are surrounded by endless possibilities, one of the hardest things you can do is pass them up.
She had not actually finished what she was saying. Her words had simply evaporated.
Life doesn't require ideals. It requires standards of action.
That's the kind of death that frightens me. The shadow of death slowly, slowly eats away at the region of life, and before you know it everything's dark and you can't see, and the people around you think of you as more dead than alive. I hate that. I couldn't stand it.
And because questions of beauty and happiness have become such difficult and convoluted propositions for me now, I suspect, I find myself clinging instead to other standards - like, whether or not something is fair or honest or universally true.
"I don't know you well enough to force stuff on you."
"You mean, if you knew me better, you'd force stuff on me like everyone else?"
"It's possible," I said. "That's how people live in the world: forcing stuff on each other."
"I'm not going to believe in any damned revolution. Love is all I'm going to believe in."
"Peace," I said.
"Peace," said Midori.
It must be a wonderful thing to be so sure that you love somebody.

किताब पढ़ने का मन करे तो यहाँ नीचे लिंक दे रहा हूँ। तब तक पढ़ते रहिए। 

Norwegian Wood – Haruki Murakami 

Also: Piyush Mishra – आरंभ है प्रचंड किताब से Top 10 गीत

नौकर की कमीज – विनोद कुमार शुक्ल | अंश

Don't miss out!
Subscribe To Newsletter

Receive top books recommendations, quotes, film recommendations and more of literature.

Invalid email address

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.

4 Comments