Special Ops देखने के Top 10 reasons

Special Ops आ गई है- Hotstar पर मिल जाएगी देखने को। इधर देख भी ली गई और बहुत गजब है। मतलब बहुत गजब। देखते ही सबसे पहले मन में आया कि दूसरों से कहूँ कि देख लो। वैसे तो यहाँ एक post पड़ चुकी है कि Special Ops के 10 उम्दा moments कौनसे हैं पर मेरे मन में था कि सबको बताऊँ कि देखने की 10 वजह क्या हैं। तो पेश हैं-

Special Ops देखने के Top 10 reasons

1. Script is God!

के के मेनन के हर interview में एक बात बहुत साफ रही है कि script भगवान होती है और वो ऐसी वैसे कोई script choose करते हैं नहीं तो भाईसाहब इस बार भी गलती कैसे करते। Special Ops देखने की सबसे पहली वजह तो यही है कि कहानी बहुत ग़ज़ब है। आज तक जितनी भी RAW और intelligence से रिलेटेड सीरीज देखीं हैं ना उन सब से बेहतर। कहानी ऐसी है कि RAW के एक operation incharge हैं हिम्मत सिंह जो 20 सालों से एक ऐसे आतंकवादी को ढूंढ रहे हैं जिसकी identity कोई मानने को तैयार ही नहीं हैं। बस उसी के पीछे की कहानी है।

2. Acting Acting and Acting!

के के मेनन तो हैं ही India के Top ऐक्टर लेकिन जो उनके साथ के लोगों ने काम किया है वो भी कम नहीं। उनके साथ हैं विनय पाठक – भेजा फ्राइ वाले। और साथ में बहुत से tv shows वाले actors जिन्होंने बहुत उम्दा काम किया है। के के मेनन के तो एक एक हाव भाव को देखकर मजा आ जाता है। उनका सख्त और समझदार raw एजेंट का रूप और घर पर परिवार वाले आदमी का रूप- दोनों में ग़ज़ब acting.

3. नीरज पांडे का Direction

नीरज पांडे को जाना था A Wednesday देखने के बाद और तभी से fan हो गया था उनका। और जो धमाकेदार entry ली है ना उन्होंने web content में वो अतुलनीय है। पूरी series को इतने मुकम्मल तरीके से बांधा है कि पूछो मत। He is at his best here.

4. Family life of agents

बाहर से सख्त दिखने वाले agents family के सामने कैसे होते हैं वो वैसे तो Family Man में हम देख चुके हैं। (नहीं देखा तो देखो जाके) पर यहाँ पर जो रूप है वो भी कम नहीं। खासकर हिम्मत सिंह का। 20 साल से धीरज से एक terrorist के पीछे लगा हुआ officer बेटी के चलते एक दम से डर जाता है – ये चीज इतनी सुंदर तरीके से दिखाई है कि पूछिए मत। (actually पूछ लेना! )

5. Sacrifice of agents

सिर्फ इन्फो देने के लिए हमारे देश के agents बाहर देशों मे अपने असली परिवार से दूर खतरों से जूझते हैं – ये बात बहुत जगह देखी है। पर इतनी closely और इतनी minutely observe नहीं की जितनी इसे देखने के बाद की है। उदाहरण के लिए फारूख की ज़िंदगी जिस उतार चढ़ाव से गुजरती है वो ग़ज़ब है। और Farooq के किरदार में Karan Tacker ने बहुत उम्दा काम किया। 

6. Security Management of Country

एक देश को safe रखने के लिए कितना कुछ होता रहता है ये हमको पता भी नहीं चलता। कितनी agencies, कितने agents, कितने लोग अपनी जान जोखिम पर लगाए रहते हैं जिससे हम सुकून से सो सकें – ये realise होता है।

7. Internal Investigation

सीरीज देख के पता चलता है कि कितने भी बड़े पद पर हो लेकिन अंदर जवाबदेही होती है- छोटे से छोटे खर्चे की। अब ये अच्छी चीज भी है और बुरी भी। आपको किसका पक्ष दिखाया जा रहा है इस पर depend करता है। यहाँ पर अच्छी बात ये है कि investigation में किसी का पक्ष नहीं लिया- objectively दिखाया है और ये बहुत उम्दा काम किया है। और ये script और नीरज पांडे के direction की खूबसूरती है कि इतने निष्पक्ष ढंग से दिखा पाए।

8. Dialogues

Script अच्छी हो, acting अच्छी हो लेकिन अगर dialogues से relate ना कर पाओ तो मजा खराब हो जाता है – है ना! पर यहाँ पर ऐसा नहीं है। कुछ ऐसे dialogues हैं जो जुबान पर लिए घूमोगे। और अच्छी बात है – उन dialogues में गालियां कम हैं।

9. गालियाँ उचित जगह

जो चीज जिस जगह जरूरत हो उस जगह use हो तो ही अच्छी लगती है और ये गालियों पर सटीक बैठती है। अपने यहाँ के web content में गालियां कुछ ज्यादा ही देखने को मिली हैं। अब मैं condemn नहीं कर रहा पर कभी कभी महसूस हो जाता है कि यहाँ पर जरूरत नहीं थी। तो यहाँ इस सीरीज में गालियां तो हैं लेकिन बहुत सटीक जगह पर और बहुत कम। मतलब भरपूर मजा।

10. धार्मिक निष्पक्षता

जो माहौल इस समय हमारे देश में चल रहा है उस हिसाब से ये series बहुत अच्छा काम करती है। मुस्लिमों का योगदान बहुत ही अच्छे तरीके से दिखाया गया है। हिम्मत सिंह के दो agents मुस्लिम होते हैं जो भारत देश के लिए अपनी जान दांव पर लगा रहे होते हैं। हिम्मत सिंह का दोस्त जो पुलिस में होता है वो भी मुस्लिम होता है। तो सीरीज ये दिखती है कि भईया मुस्लिम भी हैं जो देश को अपना मानते हैं और बहुत कुछ करते हैं।

तो ये रहे top के 10 कारण Special Ops देखने के। अच्छे बुरे जैसे लगे हों नीचे बरगद के नीचे चौपाल है वहाँ पर बोलें। कोई और भी reason हो तो वो भी बताओ। और हाँ Special Ops के special moments के बारे में पढ़ना है तो इधर जाएँ।

बाकी आईए संवाद करते हैं।

Don't miss out!
Subscribe To Newsletter

Receive top books recommendations, quotes, film recommendations and more of literature.

Invalid email address

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 Comments